Dark Mode
देश के श्रेष्ठ शारीरिक शिक्षा संस्थान LNIPE, ग्वालियर में शुक्रवार को दो दिवसीय सम्मेलन का समापन हुआ

देश के श्रेष्ठ शारीरिक शिक्षा संस्थान LNIPE, ग्वालियर में शुक्रवार को दो दिवसीय सम्मेलन का समापन हुआ

अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन के द्वितीय दिवस की शुरूआत आॅस्ट्रेलिया से सम्मेलन में पधारे श्री क्रिस्टोफर नन के द्वारा शारीरिक शिक्षा में समावेशन के विषय पर दिये व्याख्यान से हुआ । इसके पश्चात् कनाडा से पधारे डाॅ. काईल पुसकरेन्को ने फिजिकल लिटरेसी एवं समावेशन पर अपने व्याख्यान दिये । तत्पश्चात् महिला एवं खेल विषय पर पेनल डिस्कशन हुआ जिस पर देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों से पधारी महिला विशेषज्ञों एवं इंग्लैण्ड से पधारी विशेषज्ञ ने अपनी बात रखी । मलेशिया से पधारे प्रो. ली. ची. फेंग ने शारीरिक गतिविधियों के द्वारा अच्छे स्वास्थ्य बनाये रखने के सुझाव दिये । तत्पश्चात् स्किल डेवलपमेन्ट एवं आन्त्रप्रिन्योरशिप विषय पर भारत सरकार के स्किल डेवलपमेंट एवं आन्त्रप्रिन्योरशिप मंत्रालय के एस.पी.ई.एफ.एल.-एस.सी. के सी.ई.ओ. श्री तेहसीन जाहिद ने छात्रों के साथ विभिन्न विकल्पों के बारे में जानकारी दी । तत्पश्चात् इसी विषय पर विभिन्न क्षेत्रों से पधारे विशेषज्ञों के द्वारा पैनल डिस्कशन में शामिल हुये ।


कार्यक्रम के समापन समारोह से पूर्व इस सम्मेलन का छठां एवं अंतिम पैनल डिस्कशन खेल एवं शारीरिक शिक्षा में समावेशन विषय पर राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय विशेषज्ञों द्वारा चर्चा की गई ।समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शारीरिक शिक्षा के पितामह कहे जाने वाले एवं एल.एन.आई.पी.ई. के पूर्व अधिष्ठाता प्रो. अरूण कुमार उप्पल शामिल हुये एवं सफल आयोजन के लिये आयोजकों को अपनी बधाई दी ।आयोजन सचिव श्री कृष्ण कांत साहू द्वारा दो दिवसीय सम्मेलन की विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की गई । उन्होंने बताया कि इन दो दिनों में 12 की-नोट एड्रेस, 06 पैनल डिस्कशन एवं सांइटिफिक सेशन जिसमें 180 रिसर्च पेपर देश एवं विदेश के शोधकर्ताओं द्वारा मौखिक एवं पोस्टर प्रजेन्टेशन किया गया ।

उक्त सम्मेलन में आॅस्ट्रेलिया, इंग्लैण्ड, बेल्जियम, ब्राजील, मलेशिया, फ्रांस, कनाडा, फिलिपीन्स एवं देश के विभिन्न क्षेत्रों से आये विशेषज्ञों ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति एवं विजन-2047 के परिप्रेक्ष्य में शारीरिक शिक्षा एवं खेल को बढ़ावा देने के सुझाव दिये । इन सुझावों पर एल.एन.आई.पी.ई. ग्वालियर द्वारा श्वेत पत्र मंत्रालय को सौंपा जायेगा ।आयोजन सचिव ने जानकारी दी कि उक्त सम्मेलन में देश-विदेश से 405 विशेषज्ञ एवं प्रतिभागी सम्मिलित हुये । समापन समारोह में कार्यवाहक कुलपति प्रो. इन्दु बोरा, प्रभारी कुलसचिव डाॅ. संजीव यादव, सह-आयोजन सचिव डाॅ. आशीष फुलकर, डाॅ. वाय.एस. राजपूत, डाॅ. बृज किशोर प्रसाद, आयोजन समिति के सभी समन्वयक एवं सदस्य उपस्थित थे।

Comment / Reply From

You May Also Like

Newsletter

Subscribe to our mailing list to get the new updates!