Dark Mode
Chhattisgarh के बलौदाबाजार में कलेक्टर-एसपी ऑफिस को आग लगाई, सतनामी समुदाय धार्मिक स्थल तोडऩे से नाराज

Chhattisgarh के बलौदाबाजार में कलेक्टर-एसपी ऑफिस को आग लगाई, सतनामी समुदाय धार्मिक स्थल तोडऩे से नाराज

प्रदर्शन कर रही भीड़ अचानक से उग्र हो गई, जमकर की तोडफ़ोड़, जान बचाकर भागे पुलिसकर्मी, -भीड़ को हटाने के लिए पुलिस ने पानी की बौछार फेंकी, प्रदर्शनकारियों ने आग बुझाने पहुंची फायरब्रिगेड की गाड़ी में भी लगाई आग

बलौदाबाजार। छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार में सतनामी समुदाय के प्रदर्शन के दौरान सोमवार को जमकर हंगामा हुआ। लोगों ने कलेक्ट्रेट में खड़ी गाडिय़ों में तोडफ़ोड़ की। इसके बाद भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया। पथराव और गाडिय़ों में तोडफ़ोड़ के बीच कुछ लोगों ने कलेक्ट्रेट में आगजनी की। इसके बाद लोगों की पुलिस और कर्मचारियों के साथ झड़प भी हुई। जानकारी के मुताबिक 15 मई की देर रात सतनामी समुदाय के धार्मिक स्थल गिरौदपुरी धाम से करीब 5 किमी मानाकोनी बस्ती स्थित बाघिन गुफा में लगे धार्मिक चिन्ह जैतखाम को क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। जैतखाम तोड़े जाने के विरोध में समाज के हजारों लोग कलेक्ट्रेट के पास मौजूद दशहरा मैदान में कई दिन से प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस ने इस मामले में 3 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। लोगों का आरोप है कि पकड़े गए लोग असली आरोपी नहीं हैं और पुलिस दोषियों को बचा रही है। सोमवार को प्रदर्शन के दौरान लोग इसी बात को लेकर उग्र हो गए। इसके बाद हालात बिगड़ते चले गए। पथराव के दौरान पुलिसकर्मी खुद की जान बचाकर कार्यालयों में छिपे रहे। बताया जा रहा है कि भीड़ उग्र हो रही थी, लेकिन लाठीचार्ज के आदेश नहीं मिले। इसके चलते पुलिसकर्मियों को वहां से भागना पड़ा।

आग लगाने के सूचना पर फायर ब्रिगेड की 7 गाडिय़ां पहुंची हैं। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने दमकल की 2 गाडिय़ों में आग लगा दी और एक में तोडफ़ोड़ की है। कई विभागों में रखे दस्तावेज जलकर राख हजारों की संख्या में भीड़ कलेक्ट्रेट में घुस गई। वहां खड़े सरकारी वाहनों और बाइक को आग लगाने के साथ ही परिसर में भी आग लगा दी है। कलेक्टर कार्यालय में आग लगने से कई विभागों के दस्तावेज जलकर राख हो गए हैं। वहीं आधा दर्जन से ज्यादा कारें, बाइक भी जल गए हैं। इनमें सरकारी वाहन भी शामिल हैं। कलेक्टर कार्यालय के अंदर 100 से 150 लोग फंसे रहे, जो अपने काम से गए थे। उन्हें पीछे से किचन के रास्ते पुलिस बल ने बाहर निकाला। उन्हें मैदान में सुरक्षित रखा गया है। पूजा स्थल में तोडफ़ोड़ से भडक़ा है समाज गिरौदपुरी धाम से 5 किलोमीटर दूर एक बस्ती मानाकोनी है।

यहां पर पुरानी गुफा है, जो बाघिन गुफा के नाम से प्रचलित है। जहां जैतखाम और सतनामी समाज के पूजा स्थल में तोड़-फोड़ की गई थी। इसके बाद समाज के लोगों ने चक्काजाम किया था। इससे पूरे सतनामी समाज में आक्रोश है। सतनामी समाज के गुरु कांग्रेस सरकार में मंत्री रह चुके गुरु रुद्र कुमार ने कहा कि यह घटना अप्रिय है। इस घटना की भी जांच होनी चाहिए। जैतखाम तोड़े जाने की घटना की सीबीआई जांच की मांग का मैं समर्थन करता हूं। हिंसक झड़प नहीं होनी चाहिए थी, गुरु घासीदास हमें शांति का मार्ग बताते हैं। घटना की जांच करते हुए दोषियों पर कार्रवाई की जानी चाहिए। गृहमंत्री बोले- न्यायिक जांच होगी इस मामले में गृहमंत्री विजय शर्मा ने रविवार को ट्वीट कर कहा था कि पूरे मामले की न्यायिक जांच की जाएगी। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के निर्देश थे कि सामाजिक सौहार्द बिगाडऩे वाली इस घटना की न्यायिक जांच कराई जाए। यह न्यायिक जांच रिटायर्ड जज या कार्यरत जज से कराई जाएगी।

Comment / Reply From

Newsletter

Subscribe to our mailing list to get the new updates!