इंदौर में ज्योतिरादित्य सिंधिया की सत्ता शुरू, कार्यकारिणी में दबदबा; शंकर और सुदर्शन वेटिंग में

ज्योतिरादित्य सिंधिया, भारतीय जनता पार्टी में लगातार शक्तिशाली होते जा रहे हैं। इंदौर में सिंधिया का दबदबा दिखाई देने लगा है। भारतीय जनता पार्टी की शहर कार्यकारिणी में कैलाश विजयवर्गीय के अलावा ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों को प्रमुख पद दिए गए हैं।
भारतीय जनता पार्टी की नगर कार्यकारिणी में एक व पांच नंबर विधानसभा क्षेत्र से भी विजयवर्गीय से जुड़े नेताओं को उपाध्यक्ष व महामंत्री पद मिले है. ज्योतिरादित्य सिंधिया के पांच समर्थकों को महत्वपूर्ण पद प्राप्त हुए हैं। मोहन सेंगर को कोई पद नहीं मिल सका। सांसद शंकर लालवानी और पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता के समर्थकों को किसी और अवसर का इंतजार करना पड़ रहा है। भारतीय जनता पार्टी की कार्यकारिणी में सबसे महामंत्री पद सबसे महत्वपूर्ण रहता है। विधायक रमेश मेंदोला से जुड़े सुधीर कोल्हे और सविता अखंड को यह पद मिला है। तीसरे महामंत्री संदीप दुबे बने। एक नंबर विधानसभा क्षेत्र से अशोक चौहान चांदू शहर उपाध्यक्ष बने। चौहान भी विजयवर्गीय खेमे से जुड़े है। इसके अलावा नगर मंत्री अजीत राय भी नगर मंत्री पांच नंबर विधानसभा क्षेत्र से चुने गए, लेकिन वे भी विजयवर्गीय समर्थक है।
पिछले साल एक कामेडियम को हवालात भिजवा कर चर्चाओं में आए एकलव्य सिंह गौड़ नगर उपाध्यक्ष बने है। विधायक मालिनी गौड़ के पुत्र एकलव्य लंबे समय से पश्चिम क्षेत्र में धार्मिक और सांस्कृतिक गतिविधियों में सक्रिय है। गौड़ समर्थक प्रकाश राठौर और ज्योति पंडित को भी कार्यकारिणी में स्थान मिला है। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से जुड़े पवन जायसवाल, योगेश गेंदर, दीपक राजपूत को नगर उपाध्यक्ष बनाया गया, जबकि राजू सिंह चौहान और पप्पू शर्मा नगर मंत्री बने। इसके अलावा कार्यकारिणी सदस्य के रुप में सिंधिया खेमे के प्रकाश तिवारी, लक्की अवस्थी, राजेश पांडे, अजय सेंगर, मनोज मिश्रा को शामिल किया गया है। कार्यकारिणी में छह महिलाओं को मौका मिला है। सविता अखंड को महामंत्री बनाय गया। इसके अलावा पद्मा भोजे, गायत्री गोगड़े, ज्योति पंडित, अनिता व्यास, माधुरी जायसवाल को भी कार्यकारिणी में स्थान मिला है।  


You May Also Like